Stock Market में Investing के लिए 10 टिप्स

10 Tips for Investing in Stock Market

10 Tips for Investing in Stock Market Stock Market में Investing के लिए 10 टिप्स

Stock Market में Investing के लिए 10 टिप्स :- स्टॉक मार्केट इंडियन इकॉनमी का एक वाइटल पार्ट है और इन्वेस्टर्स के लिए यह प्रॉफिट अर्न करने का एक शानदार तरीका है आजकल हर कोई स्टॉक मार्केट के बारे में बात करता है और उसमें इन्वेस्टमेंट को लेकर के अवेयर हुआ है ऐसा होने की रीजन स्टॉक मार्केट से मिलने वाले प्रॉफिट्स है 

क्योंकि इसमें इन्वेस्टमेंट पर इजी रिटर्न्स मिला करते हैं कुछ समय में अपनी वेल्थ बिल्ड की जा सकती है अपने पैसे को काम पर लगाकर एक्स्ट्रा मनी गेन करना भी आसान है तो ऐसे में इसे पॉपुलर तो होना ही था तो बताइए क्या आप भी स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट रखते हैं और इसमें अपनी सेविंग्स का कुछ हिस्सा इन्वेस्ट करने का इरादा बना रहे हैं अगर ऐसा है तो यह अच्छी बात है क्योंकि सेविंग्स और इन्वेस्टमेंट दोनों ही जरूरी होते हैं 

लेकिन इन्वेस्टमेंट का यह तरीका जितना फायदेमंद है उतना ही रिस्की भी है यह जानना भी आपके लिए जरूरी है अब ऐसे में अगर आपको स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने का बेसिक कांसेप्ट पता होगा तो आपके लिए यह इन्वेस्टमेंट कम रिस्की और ज्यादा प्रॉफिटेबल बन सकेगा 

Contents

10 Tips for Investing in Stock Market 

इसलिए आज आप ही की डिमांड पर हमने यह पोस्ट बनाया है जिस में हम आपको स्टॉक मार्केट में एक बिगिन के तौर पर इन्वेस्ट करने के लिए 10 ऐसे जरूरी टिप्स बताने वाले हैं जो आपको इस मार्केट में कदम रखने में मदद करेंगे और आपके रिस्क को लो करने में भी इसलिए आप पोस्ट के एंड तक हमारे साथ बने रहिए य्हरेड.कॉम  पर ताकि कोई भी इंपॉर्टेंट टिप मिस ना हो पाए तो चलिए शुरू करते हैं 

 

टिप नंबर एक है सबसे पहले स्टॉक मार्केट को समझिए 

अगर आप स्टॉक मार्केट में एक सक्सेसफुल इन्वेस्टर बनना चाहते हैं तो आपको स्टॉक मार्केट के बारे में जानना होगा स्टॉक ट्रेडिंग कैसे होती है यह जानना भी आपके लिए जरूरी होगा आपको बता दें कि स्टॉक मार्केट एक ऐसी जगह है जहां पब्लिक लिस्टेड कंपनीज के शेयर्स की ट्रेडिंग होती है और ट्रेडिंग का मतलब होता है मनी के बदले किसी स्टॉक या सिक्योरिटी का एक सेलर से बायर के पास ट्रांसफर होना यह प्राइस बायर और सेलर नेगोशिएट करके डिसाइड करते हैं और इसमें दोनों को प्रॉफिट होने के चांसेस होते हैं 

स्टॉक मार्केट कैसे फंक्शन करता है 

और किस तरह ट्रेडिंग की जाती है इसकी नॉलेज आप आसानी से ऑनलाइन सोर्सेस से ले सकते हैं इसलिए इन्वेस्टमेंट स्टार्ट करने से पहले ट्रेडिंग की नॉलेज जरूर ले लीजिए ताकि राइट स्टॉक्स चूज करने की पॉसिबिलिटी हाई हो सके और रिस्क कम से कम हो जाए 

टिप नंबर दो है अपने रिस्क प्रोफाइल और इन्वेस्टमेंट गोल्स को क्लियर रखें 

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने की हड़बड़ी करने के बजाय आपको अपने इन्वेस्टमेंट गोल्स आइडेंटिफिकेशन के लिए या उनकी शादी के लिए अपनी मनी ग्रो करना आपका गोल है या अपने लिए नया घर खरीदना आपका गोल जो भी हो इसे क्लियर कर लीजिए और उसके बाद वह टाइम डि ड कीजिए 

जिसमें आप यह गोल अचीव करना चाहते हैं 

  • यह टाइम शॉर्ट टर्म भी हो सकता है 
  • मीडियम टर्म 
  •  लॉन्ग टर्म भी हो सकता है 

 इसके अकॉर्डिंग ही आपका रिस्क प्रोफाइल होगा क्योंकि अगर आपका गोल कम टाइम में हायर रिटर्न्स अर्न करना होगा तो आपको रिस्क भी हाई लेना होगा क्योंकि हाई रिस्क ही हाई रिटर्न्स जनरेट करता है इसलिए अच्छी तरह सोच समझकर अपने इन्वेस्टमेंट गोल्स बनाइए ताकि रिस्क प्रोफाइल को मैनेज करना भी आपके हाथ में रहे 

 

टिप नंबर तीन है शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग अवॉइड करना बेहतर हो होगा 

कम समय में अपने इन्वेस्टमेंट को डबल कौन नहीं करना चाहेगा लेकिन इसके लिए अनरियलिस्टिक एक्सपेक्टेशन रखना तो गलत ही होगा जो अक्सर इस मार्केट में शॉर्ट टर्म इन्वेस्टर्स के साथ होता है खासकर बिगिनर्स के साथ जो डे ट्रेडिंग करते हैं उन्हें अपने पैसे से हाथ धोना पड़ता है इसलिए न्यू इन्वेस्टर को यह पता होना चाहिए कि जल्दी-जल्दी शेयर खरीदना और बेचना उसके लिए महंगा सौदा बन सकता है और जरूरत के समय आपके पास अपना पैसा ना बचने का रिस्क भी बना रहता है इसलिए इस शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट से बचना चाहिए एक्सपर्ट्स की एडवाइस जाने तो स्टॉक मार्केट में अपना पैसा तभी इन्वेस्ट करना चाहिए जब आप कम से कम 3 से 5 साल तक अपने मनी को इन्वेस्ट रख सके 

आगे टिप नंबर चार है आप क्या करना चाहते हैं ट्रेडिंग या इन्वेस्टिंग 

स्टॉक मार्केट में एंटर होने के साथ ही आपके माइंड में भी यह थॉट आ सकता है कि आपको क्या करना चाहिए ट्रेडिंग या इन्वेस्टिंग आपको बता दें कि ट्रेडिंग शॉर्ट टर्म होती है और इसमें हाई रिस्क इवॉल्व होता है जबकि इन्वेस्टमेंट लॉन्ग टर्म होता है और इसमें इंवॉल्व रिस्क कंपैरेटिव काफी लो होता है आपके लिए समझना भी जरूरी होगा कि ट्रेडिंग को रेगुलर अटेंशन और एक्सपर्टीज की जरूरत होती है और एक मार्केट एक्सपर्ट के लिए यह ट्राई करना ज्यादा आसान हो सकता है 

जबकि शुरुआत में बिगनर लेवल पर आपको एक इन्वेस्टर ही बनना चाहिए यानी ट्रेडिंग की बजाय इन्वेस्टमेंट करना चाहिए और जैसे-जैसे आप एक्सपीरियंस गेन करने लगे और मार्केट को समझने लगे वैसे-वैसे आप लिमिटेड अमाउंट के साथ ट्रेडिंग की शुरुआत भी कर सकते हैं 

टिप नंबर पांच आपको स्टॉक्स में इन्वेस्ट करना चाहिए या म्यूचुअल फंड्स में 

म्यूचुअल फंड्स एक ऐसा ट्रस्ट या कंपनी होती है जो बहुत सारे इन्वेस्टर्स से मनी इकट्ठा करके उसे स्टॉक्स और बंड्स जैसी सिक्योरिटीज में इन्वेस्ट करती है तो इस पर्पस को पूरा करने के लिए स्पेशलिस्ट फंड मैनेजर अपॉइंटमेंट डिसीजंस लेते हैं और मनी स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करते हैं 

तो ऐसे एक्सपर्ट की डिसीजन से रिस्क कम होने और रिटर्न्स हाई के चांसेस बढ़ जाते हैं इसलिए बिगिन लेवल पर अगर आप ज्यादा समय स्टॉक मार्केट को समझने में नहीं लगा सकते हैं तो अपनी मनी को म्यूचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करने से शुरुआत कर सकते हैं

लेकिन अगर आप खुद स्टॉक्स को एनालाइज करके अपने लिए राइट स्टॉक्स चूज कर सकते हैं तो आप शेयर में भी इन्वेस्ट कर सकते हैं 

 

टिप नंबर छह है एस्टेब्लिश कंपनीज और सेक्टर्स को चूज करें 

स्टॉक मार्केट में कौन से सेक्टर्स तेजी से ग्रो कर रहे हैं इस पर आपको रिसर्च करनी चाहिए साथ ही आपको ऐसी स्टैब्स में ही इन्वेस्ट करना चाहिए जिनकी ग्रेट ब्रांड वैल्यू हो और लॉस का उन पर बहुत थोड़ा असर ही होता हो सकता है कि ऐसी कंपनी शॉर्ट टर्म में हाई रिटर्न्स ना दे 

लेकिन लॉन्ग टर्म में यह गुड इन्वेस्टमेंट साबित हो सकती है इसलिए इस पर अच्छा ऑनलाइन रिसर्च करके ही कंपनीज और सेक्टर चूज करें 

टिप नंबर सात है एनालाइज करना शुरू कर दीजिए 

मार्केट एक्सपर्ट के सजेशंस को फॉलो करना एक टाइम तक सही है लेकिन इन्वेस्टमेंट शुरू करने के कुछ टाइम के बाद खुद मार्केट को स्टडी करना शुरू कर देना चाहिए और मार्केट मूवमेंट को रेगुलरली स्टडी करना चाहिए ऐसा करने से आपकी मार्केट की नॉलेज बेहतर होती जाएगी और आप मूवमेंट्स को सही तरह से आइडेंटिफिकेशन एक्सपर्ट के हाथों में ना सौंपे बल्कि अपने हाथ में भी रखें अब है 

टिप नंबर आठ अपना डायवर्सिफाइड पोर्टफोलियो बनाइए 

इन्वेस्टिंग के लिए आपको एक डायवर्सिफाइड पोर्टफोलियो बनाना चाहिए ताकि रिस्क को कम किया जा सके डायवर्सिफिकेशन ऐसी इन्वेस्टमेंट टेक्नीक है जिसका पर्पस रिटर्न्स को इंक्रीज करना और ओवरऑल रिस्क को कम करना होता है सिंपल भाषा में समझे तो आपको एक सेक्टर के स्टॉक्स में इन्वेस्ट करने की बजाय कई सेक्टर्स के स्टॉक्स में इन्वेस्ट करना चाहिए ताकि रिस्क रिड्यूस हो सके 

अगर एक सेक्टर स्टॉक मार्केट में अच्छा परफॉर्म नहीं कर रहा हो तो दूसरे सेक्टर्स में लिए गए स्टॉक से आप बेनिफिट ले सके और लॉस को कवर भी कर सके वरना अगर आप एक ही सेक्टर के स्टॉक्स में इन्वेस्ट करने लगे और उसमें लॉस हुआ तो आपको बहुत ज्यादा लॉस हो सकता है यानी हाई रिस्क की कंडीशन जिसे आपको अवॉइड ही करना चाहिए खासकर शुरुआत में 

टिप नंबर नौ स्मॉल प्रॉफिट्स का लालच मत कीजिए 

स्टॉक मार्केट में वही सक्सेसफुल हो सकता है जिसमें पेशेंस हो और कम समय में ज्यादा कमा लेने का लालच ना हो बल्कि एक स्ट्रेटेजी हो क्योंकि स्टॉक मार्केट में इतनी तेजी से उतार चढ़ाव आते हैं कि आपका जल्दबाजी का एक फैसला आपके सारे पैसे डुबा सकता है 

इसलिए लालच से बचिए अक्सर यह लालच छोटे-छोटे प्रॉफिट्स जमा करने का होता है जो कि असल में घाटे का सौदा बन जाता है तो ना तो जल्दबाजी में और ना ही स्मॉल प्रॉफिट्स पर फोकस करें इसके बजाय लॉन्ग टर्म गोल्स रखिए और उन पर स्टिक रहिए ताकि आपकी मेहनत की कमाई यूं ही हाथों से फिसल ना जाए और आखिरी टिप है 

 

टिप नंबर 10 इमोशनल होकर डिसीजंस लेने से बचिए 

इमोशनल होना इंसान की एक खूबी होती है और उसकी सेंसिबिलिटी को बताती है लेकिन स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करते समय आपको इमोशनल होने से बचना होगा क्योंकि मार्केट की ग्रोथ देखकर अगर आप इमोशनल हो गए और सारा पैसा इसमें इन्वेस्ट या ट्रेड करने में लगा दिया तो यह आपके लिए बहुत बड़ा लॉस भी हो सकता है 

आज भले ही आप आपको अच्छे रिटर्न्स मिल जाएं लेकिन फ्यूचर के रिटर्न्स की कोई गारंटी नहीं होती इसलिए ओवर एक्साइटेड होकर के कोई भी डिसीजन ना ले और स्टॉक मार्केट में उतना ही इन्वेस्ट करें जितना आपके इन्वेस्टमेंट गोल्स और रिस्क प्रोफाइल आपको परमिशन दे 

तो दोस्तों इस तरीके से अब आप जान चुके हैं कि स्टॉक मार्केट एक ऐसी जगह है जहां पर आप अपने पैसे को काम पर लगा सकते हैं और उससे एक्स्ट्रा मनी अर्न कर सकते हैं लेकिन इसी मार्केट में भारी लॉसेस भी हुआ करते हैं जिनसे बचाव के लिए जरूरी है कि स्टॉक मार्केट की ट्रेडिंग और इन्वेस्टमेंट की बेसिक नॉलेज आपके पास हो और आपके डिसीजंस इमोशनल होने के बजाय प्रैक्टिकल हो अब अगर आप स्टॉक मार्केट से बेनिफिट लेना चाहते हैं 

 

तो इस पोस्ट में बताए 10 टिप्स को याद रखें और अच्छी तरह मार्केट रिसर्च करने के बाद ही इस उतार चढ़ाव की दुनिया में कदम रखें यह जानकारी यह पोस्ट आपको कैसा लगा कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं प्लस आपकी तरफ से कोई ऐसी टिप है जिसे पर्सनली आप यूज करते हैं या आपका एक्सपीरियंस है कि भाई यह भी काम करता है या यह काम नहीं करता है 

दोनों ही केसेस में जो भी आपका पर्सनल एक्सपीरियंस है इस बारे में हमें जरूर बताएं कमेंट सेक्शन में लिख करके साथ ही पोस्ट को ऑलरेडी लाइक कर दिया है तो प्लीज शेयर करना बिल्कुल ना भूले इस एरिया में जो लोग सोच रहे हैं कि शायद शुरू करना चाहिए या नहीं तो आप उन्हें जरूर शेयर करें तो मिलेंगे जल्दी ही तब तक के लिए आप अपने सवाल हमें भेजते रहिए yhared.com   के बेल आइकन को प्रेस कर दीजिए ताकि कोई भी जानकारी कभी भी आप मिस ना करें संदीप आपसे कहेगी जुड़े रहिए य्हरेड के साथ धन्यवाद i

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
9 Tips to Adopting a Plant-Based Diet 10 Effective Tips to Build Wealth धन बनाए रखने के लिए 10 प्रभावी टिप्स किसी कंपनी में सीईओ (CEO) की भूमिका क्या है? 15 Tips to Grow Your Online Business in 2023 यूपीआई से पैसे गलत जगह गए? जानिए 15 छुपे रहस्यमय तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे! धनतेरस क्यों माना जाता है: 10 छुपे और चौंका देने वाले तथ्य दीपावली: 10 गुप्त और अद्भुत तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे 15 सुपर रहस्यमयी तथ्य: जानिए लड़कियों के प्यार में छिपे संकेत हिंदी गीत एल्बम रिलीज के रहस्य: 10 आश्चर्यजनक तथ्य जो आपको चौंका देंगे फोल्डेबल स्क्रीन कैसे काम करती है? इस ताजगी से भरपूर जानकारी के साथ!