10 Self-Care Strategies for a Balanced and Happy Life

10 Self-Care Strategies for a Balanced and Happy Life

10 Self-Care Strategies for a Balanced and Happy Life

10 Self-Care Strategies for a Balanced and Happy Life –   आज के इस पोस्ट में हमारे साथ आगे बढ़िए क्योंकि हम आपको 10 ऐसे सिंपल बट इफेक्टिव टिप्स बताने वाले हैं, जो आपको सेल्फ केयर के लिए गाइड करेंगे इसीलिए इस पोस्ट को पूरा जरुर देखे.

10 Self-Care Strategies for a Balanced and Happy Life in hindi

अक्सर आजकल आपको लगता है कि छोटी-छोटी बातों पर आप बहुत ज्यादा रिएक्ट कर जाते हैं गुस्सा कर जाते हैं बोल जाते हैं फिर एंजाइटी होती है स्ट्रेस होता है और एनर्जी आपकी लो हो जाती है मतलब पूरा दिन खराब हो जाता है तो यहां पर ना आपको हर दिन की अपनी भागदौड़ को रोककर वाकई में यह सोचने की जरूरत है कि क्या आप वाकई में ठीक हैं क्या आपकी जिंदगी में सब सही चल रहा है क्या आप खुद का ख्याल रख पा रहे हैं और क्या आप सेल्फ केयर की इंपॉर्टेंस को समझ रहे हैं है जी हां थोड़ी देर के लिए जहां कहीं भी है अपने आप को रोक कर यह सारे सवाल कीजिए और इनके बारे में सोचिए

अब हो सकता है कि सेल्फ केयर वर्ड सुनक के आप थोड़े कंफ्यूज हो जाएं जैसे बहुत से लोग हो जाते हैं क्योंकि सेल्फ केयर को बहुत बार सेल्फिश होना समझ लिया जाता है या फिर लग्जरी लाइफ जीने से जोड़कर देखा जाता है जबकि सेल्फ केयर इनमें से कुछ भी नहीं है ना तो सिर्फ अपने बारे में सोचते रहना सेल्फ केयर है और ना ही सारे कामकाज छोड़कर छुट्टियों पर चले जाना सेल्फ केयर कहलाता है 

तो फिर एगजैक्टली ये सेल्फ केयर है क्या सेल्फ केयर है 

अपनी देखभाल करना अपनी फिजिकल मेंटल और इमोशनल हेल्थ को प्रमोट करना इसमें वह सब कुछ आ सकता है जो आपकी जिंदगी को बेहतर बनाता हो जैसे कि अच्छी नींद लेना रोज ताजी हवा लेने के लिए समय निकालना अपनी पसंद की चीजें करना और हेल्दी डाइट लेना तो सेल्फ केयर का मतलब सबके साथ-साथ खुद को भी प्रायोरिटी देना है और यह सेल्फ केयर इतनी मैजिकल होती है कि इससे एंजाइटी और डिप्रेशन भी रिड्यूस होने लगते हैं ए लेवल इंक्रीज होने लगता है 

हैप्पीनेस महसूस करना आसान हो जाता है खुद से और बाकी सबसे रिश्ते बेहतर होने लगते हैं और ओवरऑल देखा जाए तो लाइफ की क्वालिटी में सुधार होता जाता है जिसका असर ना केवल खुद पर देखा जा सकता है बल्कि अपने आसपास के हर एक रिश्ते पर इसका पॉजिटिव इंपैक्ट आसानी से नजर आ जाता है 

यानी सेल्फ केयर का कांसेप्ट सिर्फ खुद तक ही सीमित नहीं है इसलिए सेल्फ केयर का मतलब सेल्फिश नहीं है आई होप आप यह समझ गए हैं तो बताइए कि आप सेल्फ केयर के ज रि अपनी जिंदगी को पहले से ज्यादा बेहतर और खुशनुमा बनाना चाहेंगे अगर हां तो आज के इस पोस्ट में हमारे साथ आगे बढ़ क्योंकि हम आपको 10 ऐसे सिंपल लेकिन इफेक्टिव टिप्स बताने वाले हैं जो आपको सेल्फ केयर के लिए गाइड करेंगे तो फिर चलिए सेल्फ केयर को अच्छी तरह समझते हैं और इसके लिए क्या किया जाना चाहिए यह जानने से पहले यह जान लेते हैं कि आप सेल्फ केयर करते हैं

या नहीं यह जानने के लिए आप खुद से ऐसे सवाल कर सकते हैं जिनके जवाबों के बेस पर आप यह डिसाइड कर पाए कि आप सेल्फ केयर के किस पार्ट को मिस कर रहे हैं है और आपको सेल्फ केयर के लिए कौन से एफर्ट्स करने की जरूरत है तो यह है वह सवाल जो आप खुद से पूछे और खुद ही जवाब दे  

  • क्या आपकी डाइट आपकी बॉडी को एनर्जी दे रही है 
  • क्या आप अच्छी नींद ले पा रहे हैं 
  • क्या आप एक्सरसाइज करते हैं 
  • क्या आप रोज मिरर में खुद को देखकर स्माइल करते हैं 
  • क्या आप मेडिटेशन या न्यू स्किल्स लर्निंग जैसी प्रोएक्टिव थिंग्स करते हैं जो आपको मेंटली हेल्दी रखती हो 
  • क्या आप अपने इमोशंस को सही तरह एक्सप्रेस कर पाते हैं 
  • क्या दोस्तों के साथ फेस टू फेस टाइम बिताते हैं 
  • क्या आपके रिलेशंस अपने दोस्तों और फैमिली के साथ अच्छे हैं 
  • क्या आप जिंदगी के बारे में खुद से पॉजिटिव सवाल करते हैं 

तो भाई इन सवालों के जो भी जवाब आपको खुद से मिले हैं उनका एनालिसिस कीजिए गौर कीजिए कि कहां पर कमी है क्या है जो आपसे मिस हो रहा है मेडिटेशन मिरर में स्माइल या अच्छी नींद और उसे सही करने के लिए इन 10 हेल्पफुल सेल्फ केयर टिप्स को जरूर से अपनाए 

नंबर एक सेल्फ एक्सेप्टेंस की प्रैक्टिस करें 

सेल्फ केयर की इस जर्नी को सक्सेसफुल बनाने के लिए आपको सबसे पहले खुद को एक्सेप्ट करना होगा आप जैसे हैं वैसे ही खुद को अपना लीजिए इसका मतलब यह नहीं है कि अपनी कमियों को दूर करने की जरा भी कोशिश ना की जाए और सिर्फ अपनी तारीफों में ही खोया रहा जाए असल में इसका मतलब है कि जैसे आप हैं खुद को वैसे ही स्वीकार करें और फिर धीरे-धीरे पॉजिटिव सेल्फ एनालिसिस की मदद से खुद को पहले से बेहतर बनाते जाएं अगर आप जानते होंगे कि हर इंसान की तरह आपकी भी कुछ खूबियां और खामियां हैं तो उनसे डील करना आपके लिए आसान हो जाएगा और आप जिंदगी में आगे ग्रो करने लगेंगे 

नंबर दो इनर क्रिटिक से खुद को प्रोटेक्ट करिए 

अगर आप जानते हैं कि आप बेहतर हैं और आगे और भी बेहतर बन सकते हैं लेकिन आपके मन की वह आवाज जो इनर क्रिटिक का रोल प्ले करती है वह आपको खुद पर यकीन करने से रोकती है तो आपको इस इनर क्रिटिक को हैंडल करना आना चाहिए आप अगर अपनी सेल्फ टॉक को पॉजिटिव बना ले और से प्यार से यकीन के साथ बात करना शुरू कर दे तो यह आवाज आना धीरे-धीरे बंद हो जाएगी और अब डाउन फील करना भी छोड़ देंगे क्योंकि आप खुद के क्रिटिक नहीं रहेंगे और आपकी एनर्जी आपकी क्रिएटिविटी और मोटिवेशन उस इनर क्रिटिक की आवाज के नीचे दबेंग भी नहीं 

नंबर तीन रियलिस्टिक गोल्स को सेट करें 

सेल्फ केयर को आपके लाइफ गोल्स भी अफेक्ट करते हैं अगर आप खुद से बहुत हाई एक्सपेक्टशंस बना लेते हैं बहुत बड़ी-बड़ी उम्मीदें लगा लेते हैं और और उन्हें पूरा नहीं कर पाते हैं तो खुद में कमी निकालने लगते हैं इस समय आप सेल्फ केयर से चूक जाते हैं और खुद को कम समझने लगते हैं आपको ऐसा नहीं करना चाहिए और इसके लिए आप क्या कर सकते हैं आप अपने एकेडमिक प्रोफेशनल और पर्सनल जो भी गोल्स हैं उन्हें लिख लीजिए और उन्हें अचीव करने के लिए प्लान भी बना ले लेकिन लेकिन लेकिन यह ध्यान रखिए कि यह गोल्स रियलिस्टिक हो आपके फिक्स किए गए टाइम में यह पूरे किए जा सकते हो और इसका आप पर एक्स्ट्रा प्रेशर भी ना आ रहा हो तो अगर इस तरीके से आप रियलिस्टिक गोल्स बनाएंगे तो उनके हर स्टेप को पूरा करने का फील और सेल्फ वर्थ का सेंस आपको बहुत ही खुशी देगा

नंबर चार खुद के लिए शॉर्ट ब्रेक जरूर लें 

हर दिन कुछ वक्त खुद के साथ बिताए सारे डिस्ट्रैक्टर खुद से कनेक्ट होने का यह छोटा सा मी टाइम आपके सेल्फ रिफ्लेक्शन और रिलैक्सेशन का टाइम होगा जिसमें आप डीप ब्रीदिंग करेंगे और अपनी थॉट्स और फीलिंग्लेस प्रॉब्लम्स का सलूशन तो जब इस टाइम में आप इन सब चीजों को जानने लगेंगे तो अपनी केयर बहुत अच्छी तरह करने लग जाएंगे इनसे आपका माइंड शांत भी रहने लगेगा स्ट्रेस लेवल भी कम हो जाएगा और आप लाइट महसूस करने लगेंगे जो आपके लिए बहुत जरूरी है 

नंबर पांच फिजिकल हेल्थ को नर्चर करें 

सेल्फ केयर की शुरुआत आप फिजिकल हेल्थ को बेहतर बनाने से भी कर सकते हैं और इसे समझना और इसके रिजल्ट को मेजर करना आपके लिए काफी आसान भी होगा अपनी फिजिकल हेल्थ को न र करने के लिए न्यूट्रिशनल फूड लीजिए एक्सरसाइज जैसी फिजिकल एक्टिविटी जरूर करें क्वालिटी स्लीप को इंपॉर्टेंस दे और देखिए कि इससे कैसे आपकी मेंटल हेल्थ पर भी पॉजिटिव इंपैक्ट पड़ता है 

नंबर छह जॉय और फुलफिलमेंट को एंजॉय करिए

अब तक भले ही आप यह नहीं जानते हो कि आपको क्या खुशी देता है और यह फुलफिलमेंट की फीलिंग क्या होती है लेकिन अब जब आप सेल्फ केयर को समझने लगे हैं तो इस पर जरूर से गौर करिए पता लगाइए कि कौन सी एक्टिविटीज आपको खुश कर देती हैं अच्छा महसूस कराती हैं और बस उन्हें करना शुरू कर दीजिए फिर चाहे वह किताब पढ़ना हो डांस करना हो या फिर नेचर के बीच रहते हुए टाइम बिताना हो ये छोटी-छोटी सी एक्टिविटीज आपके मन को खुशी से भर देंगी और आपकी फिजिकल मेंटल और इमोशनल हेल्थ पर इसका पॉजिटिव इंपैक्ट ही पड़ेगा 

नंबर सात पॉजिटिव अप्रोच वाले लोगों के साथ रहिए 

आपने गौर किया हो तो स्ट्रांग फैमिली एंड सोशल कनेक्शंस रखने वाले लोग अक्सर हेल्दी और हैप्पी नजर आते हैं पता है क्यों क्योंकि वह हमेशा ऐसे लोगों के बीच रहते हैं जो उन्हें सपोर्ट करते हैं उनकी कमियां दूर करने में मदद करते हैं उनकी खासियत को सरते भी हैं और हंसी मजाक का खुशनुमा माहौल बनाए रखते हैं तो यह जो पॉजिटिविटी होती है ना यह आपको नरिच करती है आपको आगे बढ़ने में मदद करती है इसलिए इससे दूर मत रहिए तो ऐसे लोगों के पास रहिए जिन्हें आप समझते हो वह आपको समझते हो और आप एक दूसरे को संभाल सकते हो ऐसे लोगों के बीच रहते हुए आप खुद की कद्र करना सीख जाएंगे 

नंबर आठ माइंडफुल डेवलप कीजिए 

सेल्फ केयर को प्रमोट करने का एक बहुत अच्छा तरीका होगा माइंडफुल को डेवलप करना माइंडफुल का मतलब होता है प्रेजेंट मोमेंट पर फोकस करना बिना किसी इंटरप्शन और बिना किसी जजमेंट के इस पल को महसूस करना और पूरी तरह इसी में जीना इस प्रैक्टिस से पास्ट के फेलर्स और फ्यूचर की टेंशन का प्रेशर कम होने लगता है खुद के साथ आज में रहना अच्छा लगने लगता है और लाइफ इजी है यह यकीन होने लगता है इसकी प्रैक्टिस के लिए आप अपनी सांसों पर अपना फोकस रखते हुए मेडिटेटर शुरू कर सकते हैं आप वॉक करते समय खाना बनाते और खाते समय और ऐसी ही हर डेली एक्टिविटी के दौरान प्रेजेंट मोमेंट पर अपना फोकस लाने की कोशिश कर सकते हैं आपका यह एक्सपीरियंस बहुत अच्छे रिजल्ट देगा इसलिए आप इस माइंडफुल को इसी मोमेंट से अपना लीजिए 

नंबर नौ ग्रेटव्यू यानी कि आभार जताना शुरू कीजिए 

महसूस कीजिए अगर आज तक आप खुद से इसलिए बेखबर रहे हैं क्योंकि आपको शिकायतें बहुत हैं खुद से लोगों से सिचुएशन से और टाइम से और आप कह रहे हैं कि लंबी लिस्ट है ओके उन सबसे तो अब इन शिकायतों की पोटली को उठा कर के ना कहीं दूर फेंक आइए रख आइए जो करना है कीजिए और इनके साथ परफेक्शन की अपनी जिद को भी कहीं दूर छोड़ आइए और ग्रेट ट्यूड को अपना लीजिए 

आपको आज तक जो कुछ भी बेहतर मिला है उसे याद करना उसे याद रखना और उसके लिए आभार जताना बहुत खास एक्सपीरियंस है इसमें हीलिंग पावर है इसमें हायर पावर के लिए ट्रस्ट है और अपनी जिंदगी को और खुद को पसंद करने की वजह भी है इसलिए ग्रेटू यानी कि आभार जताने की प्रैक्टिस कीजिए छोटी-छोटी चीजों से और देखिए कैसे आप एक आसान पसंदीदा और सुकून से भरी जिंदगी की तरफ तेजी से आगे बढ़ते हैं और कैसे आप खुद को और बेहतर तरीके से जानने समझने और संभालने लगते हैं ट्राई कीजिए 

शिकायतों की जगह ग्रेटव्यू की पावर को आजमाइश बहुत ही छोटी-छोटी चीजों से करना शुरू करेंगे तो फिर यह लिस्ट बहुत ही लंबी होती जाएगी आपको पता ही नहीं चलेगा कि वह सब कुछ आपने अचीव कर लिया है जिसका सपना आप कई सालों से देख रहे थे तो इतनी कमाल की पावर है ग्रेटी ूडल तों से दूर रहिए यह तो हर कोई कहता है लेकिन इतना आसान थोड़ी ना होता है हां बात तो सही है कई बार सेल्फ क्रिटिसिज्म की वजह से तो कभी नेगेटिव फीडबैक या अकेलेपन के चलते लोग अल्कोहल और अदर ड्रग्स का यूज करना शुरू कर देते हैं और इसी के साथ सेल्फ केयर का कांसेप्ट पीछ छूट जाता है 

क्योंकि सेल्फ केयर करने वाले ऐसी बैड हैबिट्स को नहीं रख सकते इसलिए आपको ना इन चीजों के सहारे खुद की जिंदगी को बेहतर बनाने का भ्रम नहीं पालना है इनसे दूर रहिए वरना यह आपको खुद से बहुत दूर कर देंगे और मुद्दा तो यह है ना कि हमें तो खुद के और पास आना है खुद के सबसे अच्छे सबसे सच्चे और सबसे पक्के दोस्त बनना है तो फिर अब से अपनी जिंदगी में अपनी डेली एक्टिविटीज में वही सब शामिल कीजिए जो आपको अच्छा महसूस कराता हो कंफर्टेबल लगता हो हेल्दी बनाता हो और मुस्कुराने की ढेर सारी वजह भी देता हो 

ताकि आप सेल्फ केयर कर सके और उसके मैजिक को भी एंजॉय कर सके और इसी के साथ हमें कमेंट सेक्शन में बताइएगा कि आपको कौन सी सेल्फ केयर टिप बहुत अच्छी लगी जिसे आपने फॉलो करने के बारे में सोचा है या फिर जितने लोग कर रहे हैं वह भी हमें जरूर बताए कि यह तो हम डेली करते हैं चाहे कुछ भी हो जाए मतलब यह तो जिंदगी का नियम है तो फिर लगे हाथ जो बची हुई टिप्स है उनके बारे में सोचिए राइट तो फिर मजा आएगा तो कुल मिलाकर के आज हमने बातें की अपने आप से बहुत सारी दुनियादारी को छोड़कर इधर-उधर की बातों को छोड़कर कभी-कभी लगता है नहीं कि हमारे अंदर ही सब कुछ है नेगेटिविटी भी है पॉजिटिविटी भी है यह पाना वो पाना सब कुछ लेकिन उसके लिए टाइम भी तो चाहिए अपने आप से बात करने के लिए खैर छोटी-छोटी टिप्स आपको दी गई है आप उस पर थोड़ा सा ध्यान देना शुरू कीजिए 

वहां भी पहुंच जाएंगे जहां पहुंचना चाहते हैं और बाकी य्हरेड  के साथ हमेशा जुड़े रहिए आपका प्यार आपका सपोर्ट बनाए रखिए ताकि कि हम सब मिलकर के इस मिशन को पूरा करें और जाते-जाते कोई भी सवाल है तो वह हमें लिख दीजिए और उस सवाल के जवाब के साथ हम मिलेंगे बहुत जल्दी ही तब तक के लिए लाइक आपने कर दिया है तो ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ अपने परिवार वालों के साथ दोस्तों के साथ अ जिन-जिन को जानते हैं उन्हें यह पोस्ट जरूर भेजिए बिकॉज़ यह बहुत जरूरी है किसी भी गोल को अचीव करने से पहले खुद से खुद की मुलाकात करना बहुत जरूरी है और जितने भी नए गेस्ट आज हमारे  वेबसाइट  पर आए हैं आप सभी का मोस्ट वेलकम है ऐसे अमेजिंग जानकारियों के लिए य्हरेड   वेबसाइट  को सब्सक्राइब करके बेल आइकॉन को प्रेस कर दीजिए ताकि कोई भी जानकारी आप कभी भी मिस ना करें रूबी आपसे कहेगी फिलहाल के लिए धन्यवाद

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
9 Tips to Adopting a Plant-Based Diet 10 Effective Tips to Build Wealth धन बनाए रखने के लिए 10 प्रभावी टिप्स किसी कंपनी में सीईओ (CEO) की भूमिका क्या है? 15 Tips to Grow Your Online Business in 2023 यूपीआई से पैसे गलत जगह गए? जानिए 15 छुपे रहस्यमय तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे! धनतेरस क्यों माना जाता है: 10 छुपे और चौंका देने वाले तथ्य दीपावली: 10 गुप्त और अद्भुत तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे 15 सुपर रहस्यमयी तथ्य: जानिए लड़कियों के प्यार में छिपे संकेत हिंदी गीत एल्बम रिलीज के रहस्य: 10 आश्चर्यजनक तथ्य जो आपको चौंका देंगे फोल्डेबल स्क्रीन कैसे काम करती है? इस ताजगी से भरपूर जानकारी के साथ!